Press "Enter" to skip to content

Posts published in “Sad Shayari”

Haqikat Jaan Lo Juda Hone Se Pahle

Hindi Love Shayari 0

हकीकत जान लो जुदा होने से पहले, मेरी सुन लो अपनी सुनाने से पहले…! ये सोच लेना भूलने से पहले, बहुत रोई हैं ये आँखें मुस्कुराने से पहले…! Haqikat Jaan…

Chahat Wo Nahi Jo Jaan Deti Hai

Hindi Love Shayari 0

चाहत वो नहीं जो जान देती है, चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है…! ऐ दोस्त चाहत तो वो है, जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं…!! Chahat Wo…

Bahut Chaha Usko Jise Hum Pa Na Sake

Hindi Love Shayari 0

बहुत चाहा उसको जिसे हम पा न सके, ख्यालों में किसी और को ला न सके…! उसको देख के आंसू तो पोंछ लिए, लेकिन किसी और को देख के मुस्कुरा…

हम सिमटते गए उनमें और वो हमें भुलाते गए

Hindi Love Shayari 0

हम सिमटते गए उनमें और वो हमें भुलाते गए, हम मरते गए उनकी बेरुखी से, और वो हमें आजमाते गए …! सोचा की मेरी बेपनाह मोहब्बत देखकर सीख लेंगी वफाएँ…

Ulfat Ka Aksar Yahi Dastur Hota Hai

Hindi Love Shayari 0

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है, जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है…! दिल टूटकर बिखरता है इस कदर, जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है…!! Ulfat…

Tere Dil Ke Kareeb Aana Chahta Hoon Main

Hindi Love Shayari 0

तेरे दिल के करीब आना चाहता हूँ मैं, तुझको नहीं और अब खोना चाहता हूँ मैं…! अकेले इस तनहाई का दर्द बर्दाश्त नहीं होता, तू एक बार आजा तुझसे लिपट…

Aap Se Door Ho Kar Hum Jayenge Kaha

Hindi Love Shayari 0

Aap Se Door Ho Kar Hum Jayenge Kaha, Aap jaisa dost hum payenge kaha….! Dil ko kaise bhi sambhal lenge, Par aankho ke aansu hum chupayege kaha….!! आप से दूर…

Ek Din Jab Hum Duniya Se Chale Jayenge

Hindi Love Shayari 0

एक दिन जब हम दुनिया से चले जायेंगे, मत सोचना आपको भूल जायेंगे…! बस एक बार आसमान की तरफ़ देख लेना, मेरे आँसू बारिश बनके बरस जायेंगे….! Ek Din Jab…

Na Milata Gam To Barabadi Ke Afasane Kahan Jate

Hindi Love Shayari 0

Na Milata Gam To Barabadi Ke Afasane Kahan Jate, agar duniyaa hoti chaman to viraane kahaan jaate…! chalo achchhaa huaa apano me koi gair to nikalaa, sabhi agar apane hote…

Yun Palke Bicha Kar Tera Intezar Karte Hai

Hindi Love Shayari 0

Yun Palke Bicha Kar Tera Intezar Karte Hai, Yeh wo gunah hai jo hum baar baar karte hai…! Jalakar hasrat ki rah par chirag, Hum subah aur sham tere milne…