Dil Ka Dard Yu Lafjo Me Baya Karte Hi Nahi

Dil ka dard yu lafzo me baya karte hi nahi,

Tere tashwir ankho se na bah jaye isliye rote hi nahi…!

Tere ishq ka junoon chaya hai is kadar,

Zinda hai isi guman me warna ham hote hi nahi…!!

 

 

दिल का दर्द युँ लफ़्ज़ों में बयाँ करते ही नहीं,
तेरी तसवीर आँखों से न बह जाये इसलिये रोते ही नहीं…!
तेरे इश्क़ का जुनुँ छाया है इस क़दर,
ज़िंदा हैं ईसी ग़ुमान में वर्ना हम होते ही नहीं….!!!